ब्रेकिंग न्यूज़

 यमुना का रौद्र रूप देख घबराए लोग, ताजमहल के दशहरा घाट पर पानी ऊपर तक आया

 यमुना का रौद्र रूप देख घबराए लोग, ताजमहल के दशहरा घाट पर पानी ऊपर तक आया

 यमुना का रौद्र रूप देख घबराए लोग, ताजमहल के दशहरा घाट पर पानी ऊपर तक आया

Share Post

यमुना नदी खतरे के निशान 499 फुट तक पहुंच गई है।

13 साल बाद यमुना नदी ने तटबंध तोड़कर शहर में प्रवेश किया है। मंगलवार सुबह यमुना का पानी ताजमहल के दशहरा घाट और मेहताब बाग पर तक आ गया।  करीब 40 गांव में पानी भरने की आशंका है। आज रेस्क्यू करने में टीम लगाईं जाएंगी। यमुना किनारे की कॉलोनी खाली कराई जानी हैं।

वहीं  लोहिया नगर, तनिष्क राजश्री और दयालबाग की कॉलोनियों के सड़क मार्ग पर पानी भर गया है। कैलाश मंदिर परिसर, कैलाश गांव में पानी भर जाने से बलदेव की ओर के छह गांवों का संपर्क शहरी क्षेत्र से कट गया है। गर्भगृह तक भरा यमुना का पानी सिकंदरा स्थित कैलाश महादेव मंदिर के गर्भगृह तक उफनाई यमुना का पानी भर गया है।

इसे देखते हुए सावन के तीसरे सोमवार यानी 24 जुलाई को होने वाला कैलाश मेला स्थगित कर दिया गया है। रविवार सुबह से ही मंदिर में पानी भरना शुरू हो गया था। जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने भी दौरा किया। महंत गौरव गिरि ने बताया कि मंदिर प्रांगण में रहने वाले आठ परिवारों से घर खाली कराए जा रहे हैं।

यमुना का पानी अगले एक सप्ताह तक निकलने की उम्मीद नहीं है।

ऐसे में 24 जुलाई के मेले को स्थगित करने का फैसला किया गया है। चूंकि इस बार श्रावण मास दो माह का है, इसलिए मेला 21 अगस्त को आयोजित किया जाएगा। पांच सीवेज पंपिंग स्टेशन कर दिए बंद शहर में नालों का बहाव उल्टा होने (बैक मारने) से पांच सीवेज पंपिंग स्टेशन बंद कर दिए गए हैं।

वीए टेक वबाग के प्रोजेक्ट मैनेजर अनुज त्रिपाठी ने बताया कि जलस्तर बढ़ने के कारण यमुना किनारे के भैंरो नाला, वाटरवर्क्स, मनोहरपुर, बल्केश्वर और रजवाड़ा के सीवेज पंपिंग स्टेशनों को बंद कर दिया गया है। यहां मोटरों के फुंकने का खतरा है। देर रात यमुना नदी का जलस्तर 498.2 फुट के पार पहुंचने के कारण मंटोला और भैंरो नाला में पानी सड़क तक आने लगा है।

पानी की पाइपलाइनें दोनों नालों में डूबी नजर आईं। वहीं नालों के बैक मारने से पुराने शहर में गलियों और नालों के किनारे रहने वालों के घरों में गंदा पानी घुसने की आशंका है। मंटोला नाले का 78 एमएलडी पानी खैराती टोला पंपिंग स्टेशन तक जा रहा है, जिस वजह से जलस्तर और बढ़ने पर नाले किनारे रहने वालों की मुसीबतें बढ़ सकती हैं।

पानी में डूबे ट्रांसफार्मर, घाट की सप्लाई ठप

नदी के किनारे बिजली के ट्रांसफार्मर लगे हैं, ज्यादातर दयालबाग की काॅलोनियों और कृष्णा काॅलोनी के पास हैं। नुनिहाई में घाट पर लगे ट्रांसफार्मर के पानी में डूबने के बाद आपूर्ति बंद कर दी गई। जिला प्रशासन ने जलस्तर बढ़ने पर बिजली के भूमिगत केबल में फॉल्ट और करंट को देखते हुए टोरंट पावर से सप्लाई बंद करने को कहा गया है।

ट्रांसफार्मरों को डिस्कनेक्ट कर केवल उसी क्षेत्र की विद्युत आपूर्ति बंद की जाएगी। टोरंट पावर के उपाध्यक्ष शैलेश देसाई ने बताया कि कैलाश घाट, बल्केश्वर, महताब बाग, दयालबाग में हमारी टीमें अलर्ट हैं। जैसे ही पानी बढ़ने पर या विद्युत उपकरण पानी में डूबने पर प्रशासन का आदेश आएगा, टीमें उसी क्षेत्र की विद्युत आपूर्ति बंद कर देंगी।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. www.thehindustankhabar.com पर विस्तार से पढ़ें मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

द हिंदुस्तान खबर डॉट कॉम


Share Post

Read Previous

केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ओमान चांडी का 79 साल की उम्र में निधन

Read Next

अचानक बदला मौसम आकाश में छाए घने बादल, दिल्ली में झमाझम बारिश

Leave a Reply

Most Popular