ब्रेकिंग न्यूज़

सरकारी स्कूलों में अभी मिड- डे मील नहीं बनेगा, सूखा राशन ही दिया जाएगा

सरकारी स्कूलों में अभी मिड- डे मील नहीं बनेगा, सूखा राशन ही दिया जाएगा

सरकारी स्कूलों में अभी मिड- डे मील नहीं बनेगा, सूखा राशन ही दिया जाएगा

Share Post

कैथल राजकीय स्कूलों में अभी मिड-डे मील (मध्याह्न भोजन) नहीं बनेगा। स्कूलों में प्राइमरी व अपर प्राइमरी कक्षा के विद्यार्थियों को सूखा राशन ही दिया जाएगा।

शिक्षा विभाग ने 31 मार्च तक सूखा राशन ही देने के लिए निर्देश दिए हैं। इसके लिए शिक्षा विभाग ने बजट भी जिला मौलिक शिक्षा अधिकारियों को जारी कर दिया गया है। इसी के साथ सूखा राशन वितरण सही तरीके से करने के लिए निर्देश दिए गये है।

गौरतलब है कि सरकारी स्कूलों में छठी से बारहवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों को पढ़ाई करवाई जा रही है। वहीं शिक्षा विभाग ने तीसरी से पांचवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों को स्कूल आने के लिए हरी झंडी दे दी है। 24 फरवरी बुधवार से राजकीय और गैर राजकीय स्कूलों में तीसरी से पांचवीं तक की कक्षाएं लगेंगी।

स्कूलों में पढ़ने वाले पहली से आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों को मिड डे मील दिया जाता है। शिक्षा विभाग फैसले के मुताबिक मिड डे मील भी घर पर ही मिलेगा। इसके लिए स्कूल स्टाफ बच्चों के घर जाकर मिड डे मील बांटेगा। साथ ही राशन पकाई के पैसे बच्चों के खाते में डलवाएं जाएंगे।


कैथल राजकीय स्कूलों में अभी मिड-डे मील (मध्याह्न भोजन) नहीं बनेगा।

इस बावत शिक्षा निदेशक मौलिक ने सभी जिला मौलिक शिक्षा अधिकारियों को आदेश दिए हैं। यह काम भी 31 मार्च तक पूरा किया जाना है। इसके बाद इसी दिन शाम पांच बजे तक विभाग को रिपोर्ट प्रेषित करनी होगी।

ये मिलेगी राशि स्कूलों में प्राइमरी कक्षा के बच्चों को 4.97 रुपये प्रतिदिन व अपर प्राइमरी के लिए 7.45 रुपये प्रति विद्यार्थी दी जाती है। इसी के साथ सूखा राशन के अतिरिक्त प्राइमरी व अपर प्राइमरी के बच्चों मिल्क पाउडर भी दिया जाएगा।

प्राइमरी के प्रत्येक बच्चे को पांच किलो 50 ग्राम गेहूं तथा चार किलो 50 ग्राम चावल उपलब्ध करवाए जाएंगे। वहीं राशन पकाने के 44 रुपये 80 पैसे भी बच्चे के खाते में जमा करवाने होंगे। इसी तरह मिडिल के बच्चों को प्रति छात्र आठ किलो 25 ग्राम गेहूं तथा छह किलो 75 ग्राम चावल देने होंगे।

67.1 रुपये राशन पकाने का शुल्क खाते में जमा करवाना होगा। राशन बंद पैकेट में ही बच्चों को वितरण करना होगा। आदेश मिले हैं निदेशालय ने अभी स्कूलों के विद्यार्थियों को 31 मार्च माह तक सूखा राशन ही देने के आदेश मिले हैं। इसके बारे में स्कूलों को अवगत करवा दिया गया है। – दलीप सिंह, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी, कैथल।

कृपया मुझे इंस्टाग्राम पर फॉलो करें – द हिंदुस्तान खबर

कृपया मुझे ट्विटर पर फॉलो करें – द हिंदुस्तान खबर

द हिंदुस्तान खबर डॉट कॉम

0 Reviews

Write a Review


Share Post

Read Previous

जॉन अब्राहम की फिल्म ‘अटैक’ पर बवाल, जमकर फेंके गए पत्थर

Read Next

चांदनी चौक में अस्थाई हनुमान मंदिर को लेकर सियासी बवाल जारी, विपक्ष ने लिया बड़ा फैसला

Leave a Reply

Most Popular