ब्रेकिंग न्यूज़

मारबर्ग वायरस ने ली एंट्री, इससे बचना है मुश्किल! WHO हुआ अलर्ट

मारबर्ग वायरस ने ली एंट्री, इससे बचना है मुश्किल! WHO हुआ अलर्ट

मारबर्ग वायरस ने ली एंट्री, इससे बचना है मुश्किल! WHO हुआ अलर्ट

Share Post

दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी है.

ये वायरस लगातार अपना स्वरूप बदल रहा है. अब तक कोरोना के कई वेरिएंट सामने आ चुके हैं. कोविड-19 से दुनिया जूझ ही रही थी, इस बीच एक और खतरनाक वायरस ने दस्तक दे दी है. इस जानलेवा वायरस का नाम मारबर्ग है. मारबर्ग वायरस को सबसे खतरनाक वायरस माना जा रहा है.

इस देश में सामने आए के जानकारी के मुताबिक, मारबर्ग वायरस के पश्चिमी अफ्रीकी देश घाना में दो मामले सामने आए हैं. इस वायरस के मामले सामने आने के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन अलर्ट हो गया है. ऐसा माना जाता है कि जो भी इस वायरस की चपेट में आता है उसकी मौत पक्की है. ये वायरस पहले भी कहर बरसा चुका है. साल 1967 में इस वायरस के सबसे ज्यादा केस सामने आए थे.

इंसानों के साथ जानवरों को भी है खतरा हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि मारबर्ग वायरस इबोला और कोरोना जैसा ही है, जो इंसानों के साथ-साथ जानवरों में भी फैल सकता है. कोरोना वायरस की तरह ही मारबर्ग का वाहक चमगादड़ है. इस जानलेवा वायरस से मौत का खतरा 24 से 88 फीसदी तक होता है.

दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी है.

ये खतरनाक वायरस पहले दक्षिण अफ्रीका, अंगोला, केन्या, युगांडा, और कांगो गणराज्य में मिल चुका है.

नहीं बनी है कोई वैक्सीन इस वायरस के बारे में बताते हुए भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के पूर्व महानिदेशक एन.के. गांगुली ने कहा कि मारबर्ग एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में हो सकता है.  इसके लक्षण फ्लू जैसे ही हैं. इसकी पहचान के लिए सैंपल लेकर उनकी सीक्वेंसिग की जाती है,

जिससे टीशू कल्चर करके वायरस का पता लगाया जाता है. उन्होंने आगे बताया कि इसकी कोई एंटीवायरल दवा या वैक्सीन भी नहीं है. हालांकि राहत की बात ये है कि मारबर्ग के मामले कभी भी अफ्रीका के बाहर के देशों में नहीं आए हैं. 

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. www.thehindustankhabar.com पर विस्तार से पढ़ें मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

द हिंदुस्तान खबर डॉट कॉम


Share Post

Read Previous

सीएनजी पहुंची 80 रुपये किलो तो पीएनजी भी 3 रुपये महंगी, मुंबईवासियों पर महंगाई की मार

Read Next

अब 10 अगस्त को सुुनवाई, बुलडोजर ऐक्शन पर SC में बोली यूपी सरकार, एक ही समुदाय भारतीय

Leave a Reply

Most Popular